• दो संस्थाओं एल.बी.आई और टी.बी.आई हेतु फंडिंग।
  • लाईवलीहुड बिजनेस इंक्यूबेशन सेंटर के साथ क्षेत्रीय स्तर पर नौकरियों का सृजन करना ही प्राथमिकता होगी, उद्यम विकास हेतु अनुकूल माहौल बनाना जिससे की बेरोजगारी खत्म की जा सके।
  • टेक्नोलॉजी बिजनेस इंक्यूबेशन सेंटर, जिसका प्रथम लक्ष्य टेक्नोलॉजी होगा, वाणिज्यिक और आगे के लिए कमर्सियलाइजेशन हेतु सहायता देना।
  • सरकारी संस्थाओं के लिए रु.एक करोड़ तक का 100 प्रतिशत अनुदान।
  • पीपीपी मॉडल हेतु रु.50 लाख तक 50 प्रतिशत अनुदान।